एक बड़ी मल्टीनेशनल कम्पनी जो फिसड्डी साबित होने वाली हैं ?

विश्व की पहली ट्रिलियन डॉलर की कम्पनी Apple, जिसका नाम सुनते ही यह आश्चर्य होगा कि यह फिसड्डी कैसे होने वाली हैं ।पूरे विश्व में 4 बड़ी टेक्नोलोज़ी कम्पनी में से एक,अन्य हैं -गूगल,फ़ेकबुक व ऐमज़ान ।

कारण :-

1. एप्पल ने पिछलें क़ुछ सालों से कोई नया फ़ीचर नहीं दिए हैं।

2.स्मार्टफ़ोन बाज़ार में वनप्लस, वीवो,ओप्पो व अन्य कंपनियों के स्मॉर्ट्फ़ोन ऍपल के फ़ोनो को टक्कर दे रहें हैं।

3.ऍपल इतना महँगा होने के बाद भी वही फ़ीचर दे रहा है जिन्हें वनप्लस,ओप्पो,वीवो व अन्य कम दामों पर दे रहें हैं।

नए आइफ़ोन 11 के सारी सिरीज़ के फ़ोनो को देख लें तो बस एक कैमरा के अलावा कुछ भी नया नहीं हैं ।

स्टीव जोब्स व टीम कुक के मध्य का अंतर कही ना कही दिखता हैं।हालाँकि कुक अच्छे सीइओ हैं,पर जोब्स जितने प्रभावशाली नहीं हैं।जोब्स के पर्फ़ेक्शन या सोच या दूरदर्शीपन का एक उदाहरण हैं।जब जोब्स ज़िंदा थे।नए आईपोड का डिज़ाइन फ़ाइनल होनी थीं।एक तकनीशियन उनके पास डिज़ाइन को फ़ाइनल कराने आया ।कुछ देर देखने के बाद जोब्स बोलें कि इसे और छोटा व पतला करो।तकनीशियन बोला यह सम्भव नहीं हैं।जोब्स ने कमरें में रखें एकक्वेरियम में उस आइपॉड को डाल दिया।थोड़ी देर में ही पानी में बनते बुलबुलें को तकनीशियन को दिखा के बोलें कि देख़ो,बीच में ख़ाली जगह हैंकिसलिए वजह से बुलबुलें बन रहे hai और इसे हटा कर और पतला और छोटा बनाया जा सक़ता हैं ।

जोब्स के जिस पर्फ़ेक्शन की वज़ह से ऐप्पल जिस मुक़ाम तक पहुँचा था।वह बढ़ते कॉम्पटिशन में पिछडता जा रहा हैं।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.